ALL ब्रेकिंग क्षेत्रीय मध्यप्रदेश राजनीति देश विदेश अन्य राज्य स्वास्थ-शिक्षा-व्यापार धार्मिक-पर्यटन-यात्रा खेल-मनोरंजन विशेष आलेख
Kerala Elephant Incident : प्रेग्नेंट हथिनी की दर्दनाक मौत, इंसानियत पर उठाए जा रहे हैं सवाल !
June 4, 2020 • BKK NEWS - बी.के.के. न्यूज़ (सम्पादक - राधेश्याम चौऋषिया) • देश विदेश

भूूखी गर्भवती हथिनी को शरारती तत्वों ने खिलाया पटाखों से भरा अनानास, तड़प-तड़पकर हुई मौत

 

पशु क्रूरता (Animal abuse) की एक घटना सामने आई है। केरल (Kerala) के मलप्पुरम (Malappuram) में कुछ शरारती तत्वों ने एक हथिनी को पटाखे भरकर अनानास (pineapple crackers) खिला दिया। गर्भवती हथिनी (pregnant elephant) के बच्चे की पेट में मौत हो गई और हाथी ने भी दम तोड़ दिया।

तिरुवनंतपुरम

केरल में एक अमानवीय घटना सामने आई है। यहां कुछ शरारती तत्वों ने एक गर्भवती हथिनी को पटाखों से भरा अनानास खिला दिया। पटाखे हथिनी के मुंह में फट गए और हथिनी के गर्भ में पल रहे बच्चे समेत उसकी मौत हो गई। यह दर्दनाक घटना वन विभाग के एक अधिकारी ने तस्वीरें सोशल मीडिया में पोस्ट कीं। कुछ ही देर में सोशल मीडिया में ये तस्वीरें वायरल हुईं और लोगों का गुस्सा फूट पड़ा।

मामला मलप्पुरम जिले की है। गर्भवती भूखी हथिनी भोजन की तलाश में जंगल के बाहर आ गई। वह गांव में भटक गई। कुछ स्थानीय लोगों ने उसके साथ शरारत की और उसे अनानास में पटाखे भरकर खिला दिया। भूख से बेहाल हथिनी ने वह अनानास खा लिया और कुछ ही देर में उसके पेट के अंदर पटाखे फटने लगे।

 बच्चे के लिए हुई परेशान लेकिन.....

हथिनी बुरी तरह घायल हो गया। सूचना के बाद पहुंची रेस्क्यू टीम हथिनी को लेकर आई। हालांकि कुछ देर बाद ही हथिनी ने दम तोड़ दिया। रेस्क्यू टीम का हिस्सा रहे वन अधिकारी मोहन कृष्णन ने फेसबुक पर लिखा, 'उसने सभी पर भरोसा किया। जब वह अनानास खा गई और कुछ देर बाद उसके पेट में यह फट गया तो वह परेशान हो गई। हथिनी अपने लिए नहीं बल्कि उसके पेट में पल रहे बच्चे के लिए परेशान हुई होगी, जिसे वह अगले 18 से 20 महीने में जन्म देने वाली थी।'

 

बुरी तरह मुंह में आए जख्म

अधिकारियों ने बताया कि पटाखे उसके मुंह में फट गए जिससे मुंह और जीभ बुरी तरह से जख्मी हो गए। दर्द के कारण वह कुछ खा नहीं पा रही थी। उसके पेट में पल रहे बच्चे को भी कुछ नहीं मिल पा रहा था। उसने तड़प-तड़पकर दम तोड़ दिया।

**********************************

इंसान की थोड़ी सी मोहब्बत बेजुबानों को उनके करीब ले आती है। वे आंख मूंद कर उनपर भरोसा करने लगते हैं। अगर एक इंसान उनके साथ अच्छाई करता है, तो वे यही समझ बैठते हैं कि सभी इंसान ऐसे ही होंगे। एक हाथिनी ने यही भूल कर दी। वो यह नहीं समझ सकी कि इस धरती पर कई लोग ऐसे भी हैं जिनके भीतर की इंसानियत मर चुकी है। मामला दक्षिण भारत के केरल राज्य से है। जहां कुछ शरारती तत्वों ने एक गर्भवती हथिनी को विस्फोटक भरा अनानास खिला दिया। इसके बाद वह तीन दिनों तक वेलियार नदीं में खड़ी रही। दर्द से जूझती उस मां ने अपने मुंह और सूंड को पानी के भीतर ही रखा था। अब वो इस दुनिया में नहीं है। लोग हथिनी और उसके बच्चे के लिए न्याय की मांग कर रहे हैं। साथ ही, कई तरह के पोस्टर और कार्टून्स की मदद से बेजुबानों का दर्द बयां कर रहे हैं।